rishte..

रिश्ते सिर्फ़ इंसानो से ही नहीं..
रास्तो और शहरो से भी होते है..
राहो पे ठोकर देने वाले उन पत्थरो से भी होते है..
हस्सी और गम के उन लम्हो..
और उन लम्हो को पनाह देनी वाली उन दीवारो से भी होते है..
पड़ोस के किराने वाले राहुल से..
हर रोज़ रोटी बनाने वाली आंटी से भी होते है..
और छोटी छोटी खुशियो में शामिल करने वाले उन अंज़नो से भी होते है..
रिश्तो का कोई नाम नहीं होता.. 
रिश्ते बेनाम और बेआकर होते है.. 
परिभाषाओ के मायाजाल से परे.. 
ज़िन्दगी का सार होते है रिश्ते..

 

Advertisements

the present…

wrote this for a gujju friend on her birthday.. she is one of the craziest person I was fortunate enough to meet..

i was blinded- no,
we were blinded
i was deaf- no,
we were deaf…

then came the hope..
make no mistake she’s a dude with a shining grace..
tough & violent, her ways are strange..
and when she holds ur hand u’ll feel that courage..

but as they say…
“Details make perfection, and perfection is not a detail”
bits and bytes of meal and a day ending with webmail.. :p

building packages apk and ipa..
dil sabka bole how can u do this way..
theepla and khakrey se ban jaye iska day..
straightening karvake bole yeh hurray..!!! 😀

entrepreneur by heart..
we wish she get so far..

where the sun gets brighter..
and chintu is her star..